Header Ads

 
175 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात तट से टकरायेगा तूफान वायु
Wednesday, Jun 12 2019
 

गांधीनगर | 12 जून अरब सागर में उठे चक्रवाती तूफान वायु ने और गंभीर स्वरूप धारण कर लिया है और इसके पूर्व में अनुमानित की तुलना में और अधिक तीव्रता से गुजरात के सौराष्ट्र के निकट कल सुबह जमीन से टकराने लैंडफॉल की संभावना है। अहमदाबाद मौसम केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने आज यूएनआई को बताया कि अब इसने अति गंभीर च्रकवाती तूफान का स्वरूप ले लिया है। सुबह यह गुजरात के वेरावल तट से लगभग 340 किमी दक्षिण में स्थित था। यह कल सुबह पोरबंदर से महुवा के बीच वेरावल के आसपास जमीन से टकरायेगा। उस समय इसकी गति पूर्व के अनुमानित 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटा की तुलना में और अधिक 145 से 155 किमी प्रति घंटा रहने की संभावना है तथा इसके साथ कभी कभी पवन की गति 175 किमी प्रति घंटा तक पहुंच जायेगी। इस बीच इसके मद्देजनर तटवर्ती जिलों व्यापक एहतियाती उपाय किये गये हैं। तटवर्ती 11 जिलों के स्कूलों में आज और कल अवकाश की घोषणा कर दी गयी है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने केवल इसी विषय पर आज कैबिनेट की बैठक आहूत की है। सभी प्रभारी मंत्रियों को उनके जिलों में रहने की ताकीद की गयी है। इसके अलावा सभी सरकारी अधिकारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं। हजारों की संख्या में मछुआरों की नौकाएं वापस लौट आयी हैं जबकि घोघा और दहेज के बीच खंभात की खाडी में चलने वाली रो रो फेरी सेवा को कल से तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है। लगभग 408 तटवर्ती गांवों ओर निचले इलाकों से लोगों को स्थानांतरित करने का काम आज सुबह शुरू हो गया है। कुल लगभग तीन लाख लोगों को स्थानांतरित किया जायेगा। राहत और बचाव कार्य के लिए सेना के तीनों अंगों को भी तैयार रखा गया है। एनडीआरएफ की तीस से अधिक टुकडियां इन इलाको में तैनात हैं। तूफान के मद्देनजर तटवर्ती इलाकों में भारी वर्षा की आशंका भी व्यक्त की गयी है। समुद्र तटों पर लोगों को नहीं जाने की सलाह दी गयी है। उधर तटवर्ती इलाकों समेत राज्य के कई स्थानों पर आज बादलयुक्त वातावरण हैं और कई स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई है। समुद्र तट पर ऊंची लहरे उठ रही हैं। गौरतलब है कि इससे पहले दो बार ऐसे तूफानों की चेतावनी अंत में फुस्स साबित हुई थी। वर्ष 2014 के अक्टूबर में नीलोफर तूफान और 2017 दिसंबर में ओखी तूफान गुजरात तट से टकराते समय महज निम्न दबाव के मामूली क्षेत्र में तब्दील हो गये थे। इनसे कोई नुकसान नहीं हुआ था जबकि इससे पहले इनसे निपटने के लिए व्यापक तैयारी की गयी थी और सेना के तीनो अंगों को भी तैयार रखा गया था। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
पाकिस्तान भारत के साथ तनाव कम करे-ट्रंप       Lokswami      
पिछले 24 घंटों के दौरान सीरिया में आतंकवादियों ने 31 हमले किये       Lokswami      
कश्मीर मुद्दे का संरा घोषणा पत्र के अनुसार समाधान हो: चीन       Lokswami      
गाजा में इजरायली सेना के साथ संघर्ष में 33 फिलीस्तीनी घायल       Lokswami      
जम्मू में टूजी इंटरनेट सेवा बहाल       Lokswami      
अमेरिका में कई हवाई अड्डों पर संचालन प्रणाली बाधित       Lokswami      
जयशंकर की सुलिवान से मुलाकात, अफगानिस्तान में शांति बहाली पर हुई चर्चा       Lokswami      
मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात कायम, आज भी बारिश की आशंका       Lokswami      
केरल में बाढ़ से मृतकों की संख्या 113 हुई , 29 लोग लापता       Lokswami      
भावपूर्ण अभिनय करने में माहिर है सचिन       Lokswami      
उनचास वर्ष के हुये सैफ अली खान       Lokswami      
बाढ़ पीड़ितों के लिये 500 घर बनायेंगे नाना पाटेकर       Lokswami      
रूपा गांगुली का बेटा तेज रफ्तार वाहन चलाने के मामले में गिरफ्तार       Lokswami      
इंदिरासागर गेट (भोल 5 के साथ) इंदिरा सागर के गेट खुले       Lokswami      
शेख हसीना ने बंगलादेश के राष्ट्रपिता को दी श्रद्धांजलि       Lokswami      
ब्रह्मपुत्र का प्रवाह मोड़ने की बात अफवाह : तिब्बत प्रशासन       Lokswami      
ग्रीनलैंड को खरीदना चाहते हैं ट्रम्प       Lokswami      
पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों की सीडी बिक्री करने वाली दुकानों पर कार्रवाई       Lokswami      
ईरान को लेकर इज़राइल और यूएई ने की गुप्त बैठक       Lokswami      
नंबर एक ओसाका और बार्टी तीसरे दौर में       Lokswami