Header Ads

 
सीबीआई निदेशक की याचिका पर सुनवाई पूरी. फैसला सुरक्षित
Thursday, Dec 6 2018
 

नयी दिल्ली 06 दिसम्बर उच्चतम न्यायालय ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो सीबीआई निदशेक आलोक वर्मा से अधिकार वापस लेने और उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के केंद्र के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुआई वाली खंडपीठ ने गुरुवार को श्री वर्मा और स्वयंसेवी संगठन ‘काॅमन काॅज’ की श्री वर्मा से अधिकार वापस लेने और छुट्टी पर भेजे जाने वाली याचिकाओं पर सुनवाई पूरी की और फैसला सुरक्षित रख लिया। श्री वर्मा को सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के साथ हुए विवाद के बाद सरकार ने 23 अक्टूबर को छुट्टी पर भेज दिया था। दोनों ने एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाये थे। मुख्य न्यायाधीश और न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायाधीश के एम जोसेफ की खंड पीठ ने सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार के फैसले पर कडा रुख दिखाया। खंडपीठ ने सवाल किया कि सीबीआई के दो उच्च पदस्थ अधिकारियों के बीच लडाई रातोंरात सामने नहीं आयी थी। न्यायालय ने कहा कि यह ऐसा मामला नहीं था कि सरकार को चयन समिति से बातचीत किए बिना सीबीआई निदेशक की शक्तियों को तुरंत खत्म करने का निर्णय लेना पडा। श्री गोगोई ने कहा कि सरकार ने स्वयं यह स्वीकार किया है कि ऐसी स्थितियां जुलाई से ही उत्पन्न हो रही थी। खंडपीठ ने कहा कि यदि केंद्र सरकार निदेशक के अधिकारों पर रोक लगाने से पहले चयन समिति से इसकी मंजूरी ले लेती तो कानून का बेहतन पालन होता। खंडपीठ ने कहा कि सरकार की कार्रवाई की भावना संस्थान के हित में होनी चाहिए। मुख्य न्यायाधीश ने सवाल किया कि “जब श्री वर्मा कुछ माह में सेवानिवृत्त होने वाले थे तो कुछ और माह का इंतजार तथा चयन समिति से परामर्श क्याें नहीं किया गया ।’’ बुधवार को इस मामले पर सुनवाई के दौरान महाधिवक्ता के के वेणुगोपाल ने न्यायालय के समक्ष सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि सरकार को सीबीआई निदेशक और श्री अस्थाना के बीच चल रहे विवाद में इसलिए हस्तक्षेप करना पडा क्योंकि दोनों बिल्लियों की तरह झगड रहे थे। सरकार को प्रमुख जांच एजेंसी की विश्वसनीयता और अखंडता को बनाये रखने के लिए दखल देना पडा। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
भारत पे ने विश्व कप प्रतियोगिता के 11 विजेताओं की घोषणा की       Lokswami      
राजद पहली पर जीरो पर आउट       Lokswami      
भूटान नरेश और प्रधानमंत्री शेरिंग ने मोदी को बधाई दी       Lokswami      
मध्यप्रदेश में बुंदेलखंड के सागर संभाग की चार संसदीय सीट पर भाजपा की हैट्रिक       Lokswami      
आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस ने 151 विधानसभा सीटें जीती       Lokswami      
बडी संख्या में नयी उडानें शुरू करेगी एयर इंडिया       Lokswami      
ट्रैक एंड फील्ड एथलीट गोमती पर लग सकता है 4 साल का बैन       Lokswami      
भारतीय टीम विश्वकप के लिये रवाना       Lokswami      
जम्मू में महिलाओं के लिए विशेष बस सेवा शुरू       Lokswami      
सूर्यवंशम के प्रदर्शन के 20 साल पूरे       Lokswami      
एक्टर बन सकता है अर्जुन: जूही चावला       Lokswami      
स्ट्रीट डांसर 3डी की शूटिंग के दौरान भावुक हुये वरुण       Lokswami      
चंगेज खान का किरदार निभाना चाहते हैं सलमान       Lokswami      
अवैध ठेकों के मामले में जरदारी को 13 जून तक अंतरिम जमानत       Lokswami      
वाहनों के दुरुपयोग पर नवाज से जेल में पूछताछ की अनुमति       Lokswami      
आरआईएसएटी-2बी का सफल प्रक्षेपण, सुरक्षा बलों- आपदा एजेंसियों को मिलेगी मदद       Lokswami      
उत्तर कोरिया ने जो बिडेन पर साधा निशाना       Lokswami      
पक्ष और विपक्ष जनादेश का सम्मान करे : पासवान       Lokswami      
फर्जी एग्जिट पोल से निराश न हो कार्यकर्ता : राहुल       Lokswami      
केसीसी करेगा आठ महीने के एरियर का भुगतान       Lokswami