Header Ads

 
सात साल में बनने थे एक करोड मकान, चार साल में बने 12 लाख
Thursday, Dec 6 2018
 

मुंबई 06 दिसंबर प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत प्रस्तावित एक करोड मकानों में से अब तक मात्र 12 लाख ही बन सके हैं और यह लक्ष्य पूरा करने के लिए अगले तीन वित्त वर्ष में एक लाख करोड रुपये की जरूरत पडेगी। बाजार अध्ययन एवं साख निर्धारक एजेंसी क्रिसिल ने आज जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि इस साल 26 नवंबर तक इस योजना के तहत 63 लाख मकानों की स्वीकृति दी जा चुकी है, लेकिन उनमें मात्र 12 लाख ही अब तक बन सके हैं। इनके अलावा 23 लाख मकान निर्माणाधीन हैं। इस प्रकार स्वीकृत मकानों में से 28 लाख का निर्माण अभी शुरू नहीं हुआ है। कुल स्वीकृत मकानों में से 55 प्रतिशत आँध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु में हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रालय ने इस वित्त वर्ष के अंत तक 75 लाख मकानों के लिए स्वीकृति देने और 30 लाख का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य रखा है। योजना के तहत डेढ लाख रुपये प्रति मकान के हिसाब से वित्त वर्ष 20121-22 तक सात साल में कुल डेढ लाख करोड रुपये केंद्र सरकार की ओर से दिये जाने थे। इनमें अब तक मात्र 22 प्रतिशत यानी 32,500 करोड रुपये ही जारी किये गये हैं। चालू वित्त वर्ष के बजट में 19,000 करोड रुपये का प्रावधान इस मद में किया गया है। इस प्रकार अगले तीन साल में एक लाख करोड रुपये जारी किये जाने हैं जो सरकार के लिए आसान नहीं होगा। क्रिसिल रिसर्च के वरिष्ठ निदेशक कोपरकर ने कहा “हमारी गणना के हिसाब से लक्ष्य प्राप्ति के लिए सरकार को अगले तीन साल में एक लाख करोड रुपये इस मद में खर्च करने होंगे। मौजूदा वित्तीय परिस्थितियों को देखते हुये यह काफी मुश्किल काम होगा।” मंत्रालय ने बजट से इतर पैसे जुटाने के लि आवास एवं शहरी विकास कॉर्पोरेशन जैसी इकाइयों के जरिये बॉन्ड जारी कर धन जुटाने की योजना बनायी है। ये बॉन्ड 10 साल के होंगे और अवधि पूरी होने पर इनके भुगतान के लिए भी उस समय के बजट में प्रावधान करना होगा। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
तुम हालातों की भट्टी में जब-जब भी मुझको झोंकोगे तब तपकर सोना बनूंगा मैं, तुम मुझको कब तक रोकोगे       Lokswami      
पुलवामा हमले के समय कहां थे मोदी: कांग्रेस       Lokswami      
कुवैत में 161 कैदियों को रिहा करने का आदेश       Lokswami      
सीरिया में 200 अमेरिकी शांति सैनिक रहेंगे मौजूद: व्हाइट हाउस       Lokswami      
मंडावा में अंतरराष्ट्रीय घुडदौड प्रतियोगिता दो मार्च से       Lokswami      
परिवहन मंत्री ने किया स्कूल बसों का निरीक्षण       Lokswami      
बस्तर की स्थिति बताने तीन सौ से ज्यादा सायकल यात्री यात्रा पर       Lokswami      
कमलनाथ की लोगों से स्वाइन फ्लू से बचाव की अपील       Lokswami      
दिल्ली में बादलों की लुका-छिपी, वायु गुणवत्ता सामान्य       Lokswami      
रूपहले पर्दे को अपनी दिलकश अदाओं से सजाया मधुबाला ने       Lokswami      
पंजाबी फिल्म में काम करेंगी जरीन खान       Lokswami      
दीपिका की पसंद के कपडे पहनते हैं रणवीर       Lokswami      
कंगना के साथ काम नहीं करना चाहते हैं अली अब्बास जफर!       Lokswami      
भारत-कोरिया के बीच कई महत्वूपर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर       Lokswami      
आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई का समय आ गया: मोदी       Lokswami      
सुरक्षा परिषद के बयान से पाकिस्तान पर दबाव बढा: भारत       Lokswami      
मादुरो ने ईयू से मानवीय सहायता लेने पर दी रजामंदी       Lokswami      
मोदी को सोल शांति पुरस्कार, पुरस्कार राशि नमामि गंगे को समर्पित       Lokswami      
कूरियर कंपनी के प्रबंधक से चार लाख 70 हजार की लूट       Lokswami      
इलेक्ट्रानिक्स दुकान से डेढ लाख रूपये की संपत्ति की चोरी       Lokswami