Header Ads

 
सात साल में बनने थे एक करोड मकान, चार साल में बने 12 लाख
Thursday, Dec 6 2018
 

मुंबई 06 दिसंबर प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत प्रस्तावित एक करोड मकानों में से अब तक मात्र 12 लाख ही बन सके हैं और यह लक्ष्य पूरा करने के लिए अगले तीन वित्त वर्ष में एक लाख करोड रुपये की जरूरत पडेगी। बाजार अध्ययन एवं साख निर्धारक एजेंसी क्रिसिल ने आज जारी एक रिपोर्ट में कहा है कि इस साल 26 नवंबर तक इस योजना के तहत 63 लाख मकानों की स्वीकृति दी जा चुकी है, लेकिन उनमें मात्र 12 लाख ही अब तक बन सके हैं। इनके अलावा 23 लाख मकान निर्माणाधीन हैं। इस प्रकार स्वीकृत मकानों में से 28 लाख का निर्माण अभी शुरू नहीं हुआ है। कुल स्वीकृत मकानों में से 55 प्रतिशत आँध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और तमिलनाडु में हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि मंत्रालय ने इस वित्त वर्ष के अंत तक 75 लाख मकानों के लिए स्वीकृति देने और 30 लाख का निर्माण पूरा करने का लक्ष्य रखा है। योजना के तहत डेढ लाख रुपये प्रति मकान के हिसाब से वित्त वर्ष 20121-22 तक सात साल में कुल डेढ लाख करोड रुपये केंद्र सरकार की ओर से दिये जाने थे। इनमें अब तक मात्र 22 प्रतिशत यानी 32,500 करोड रुपये ही जारी किये गये हैं। चालू वित्त वर्ष के बजट में 19,000 करोड रुपये का प्रावधान इस मद में किया गया है। इस प्रकार अगले तीन साल में एक लाख करोड रुपये जारी किये जाने हैं जो सरकार के लिए आसान नहीं होगा। क्रिसिल रिसर्च के वरिष्ठ निदेशक कोपरकर ने कहा “हमारी गणना के हिसाब से लक्ष्य प्राप्ति के लिए सरकार को अगले तीन साल में एक लाख करोड रुपये इस मद में खर्च करने होंगे। मौजूदा वित्तीय परिस्थितियों को देखते हुये यह काफी मुश्किल काम होगा।” मंत्रालय ने बजट से इतर पैसे जुटाने के लि आवास एवं शहरी विकास कॉर्पोरेशन जैसी इकाइयों के जरिये बॉन्ड जारी कर धन जुटाने की योजना बनायी है। ये बॉन्ड 10 साल के होंगे और अवधि पूरी होने पर इनके भुगतान के लिए भी उस समय के बजट में प्रावधान करना होगा। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
बाग पंचायत ने लिखी जीतू पटवारी के जीत की इबारत       Lokswami      
‘मार्डन गुरुकुल’ कल्पवृक्ष का सेक्सी गुरु       Lokswami      
विधानसभा चुनावों में हुयी जीत अवाम और पार्टी अध्यक्ष की है: नगमा       Lokswami      
कडे अभ्यास से मिलता है पंसदीदा मुकाम : रिचा       Lokswami      
बाढ़ प्रभावितों को सहायता उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता:योगी       Lokswami      
भारत माला परियोजना के तहत बिछ रहा है सड़कों का जालःशाही       Lokswami      
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर अधिकारियों और कर्मचारियों को दिलायी जायेगी शपथ       Lokswami      
रेड बुल एथलीट तुहीन ने सहायद्री चुनौती को पार किया       Lokswami      
विजेंदर ने ब्लाइंड एथलीटों को किया प्रेरित       Lokswami      
झारखंड को पटखनी देने को तैयार उत्तर प्रदेश       Lokswami      
पॉपुलर रैली में होगा नेशनल रैली चैम्पियन का फैसला       Lokswami      
2019 में भाजपा की धूमधाम से विदाई तय : बाबूलाल       Lokswami      
जर्मनी पर रोमांचक जीत से बेल्जियम सेमीफाइनल में       Lokswami      
सीरिया पहली बार विंटर ओलंपिक में उतारेगा एथलीट       Lokswami      
सिंधू ने वर्ल्ड नंबर वन जू यिंग को चौंकाया       Lokswami      
पाकिस्तान को हरा भारत एमर्जिंग कप फाइनल में       Lokswami      
एएफसी कप के लिये कोंस्टेनटाइन ने चुने 34 संभावित       Lokswami      
भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए: न्यायमूर्ति सेन       Lokswami      
भाजपा हाईकमान के निर्देश पर विदेश यात्रा से लौटे सिद्दारामैया       Lokswami      
पाकिस्तान ने पुंछ में किया संघर्ष विराम का उल्लंघन       Lokswami