Header Ads

 
रोहिंग्या मुद्दे पर म्यांमार की भूमिका पर मून ने जतायी चिंता
Thursday, Jul 11 2019
 

ढाका 11 जुलाई संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव बान की मून ने रोहिंग्या मुद्दे पर चिंता व्यक्त की है और जबरन विस्थापित किये गये रोहिंग्या शरणार्थियों को वापस लेने पर अनिच्छा व्यक्त करने के लिए म्यांमार सरकार के खिलाफ कडी नाराजगी व्यक्त की है। श्री मून ने मार्शल द्वीप के राष्ट्रपति डा. हिल्डा हेइन तथा विश्व बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. क्रिस्टेलाइन जॉर्जीवा ने कॉक्स बाजार में कुतुपलांग स्थित रोहिंग्या शरणार्थियों के राहत शिविर के दौरे के बाद बुधवार को संवाददाताओं से कहा,“यह अंततः बंगलादेश के लिए एक असहनीय संकट होगा।” उन्होंने कहा,“यह बंगलादेश के लिए संभव नहीं है कि वह इतनी बडी संख्या में रोहिंग्या को लंबे समय तक रख सके।” दक्षिण कोरिया के पूर्व राजनयिक एवं वर्ष 2007 से 2016 तक लगाातार दो बार संयुक्त राष्ट्र के महासचिव रहे श्री मून ने कहा कि रोहिंग्या बंगलादेश जैसे देश के लिए बहुत बडा ‘बोझ’ बनकर सामने आये हैं। उन्होंने कहा,“म्यांमार सरकार को और अधिक प्रयास करना चाहिए ताकि रोहिंग्या बिना किसी डर और उत्पीडन के अपने देश लौट सकें।” उन्होंने कहा कि तीन हाई-प्रोफाइल गणमान्य व्यक्तियों ने कॉक्स बाजार में कुतुपलांग रोहिंग्या शिविर का दौरा किया। हालांकि, उन्होंने आंतरिक संसाधनों की कमी के बावजूद मानवीय आधार पर 10 लाख से अधिक रोहिंग्या शरणार्थियों को शरण देने के लिए प्रधानमंत्री शेख हसीना और बंगलादेशी लोगों की सराहना की। श्री मून ने म्यांमार के नागरिकों की गरिमापूर्ण और निडर वापसी के जरिये रोहिंग्या संकट के लिए सैहार्दपूर्ण समाधान की मांग की और संयुक्त राष्ट्र के संगठनों को रोहिंग्या शरणार्थयों को मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया। बंगलादेश के विदेश मंत्री डॉ ए के अब्दुल मोमन और पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री एम शहाब उद्दीन विदेशी हस्तियों के साथ थे। सर्वश्री हेइन, मून और जॉर्जीवा ने इन कमजोर विस्थापित म्यांमार के नागरिकों के प्रति उनकी एकजुटता के प्रतीक के रूप में रोहिंग्या शिविरों के परिसर में अलग-अलग पौधे लगाए। बंगलादेश के कॉक्स बाजार जिले में रोहिंग्या विस्थापितों की 10 लाख से अधिक की आबादी को आश्रय मिला हुआ है। इनमें से ज्यादातर म्यांमार सेना की ओर से 25 अगस्त, 2017 को रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ चलाये गये अभियान के बाद यहां पहुंचे हैं। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
धनखड पश्चिम बंगाल के और फागु चौहान बिहार के नये राज्यपाल       Lokswami      
टैंकर के चालक दल के 23 सदस्यों में भारतीय भी       Lokswami      
रूस का नाटो से सैन्य वार्ता फिर शुरू करने पर जोर       Lokswami      
संरा ने जापान में आगजनी हमले में लोगों की मौत पर दुख प्रकट किया       Lokswami      
रूस सुनिश्चित करे कि ईरान इसके नागरिकों के अधिकारों का सम्मान करे: कोसाचेव       Lokswami      
डेयरी उद्योग को लेकर दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति को एनजीटी की फटकार       Lokswami      
खुद को मिसफिट एक्टर समझता था :अनिल कपूर       Lokswami      
आलिया भट्ट को अपनी प्रेरणा मानती हैं अनन्या पांडे       Lokswami      
अल्जीरिया 29 साल बाद फिर बना अफ्रीका चैंपियन       Lokswami      
धोनी ने खुद को विंडीज दौरे से किया अलग       Lokswami      
पटेल की शानदार पारी के बावजूद हारा भारत ए       Lokswami      
दिव्या दत्ता को गौर गोपाल दास ने उबारा डिप्रेशन से       Lokswami      
मिशन मंगल की स्क्रिप्ट काफी बेहतरीन :विद्या बालन       Lokswami      
गायक बनने की तमन्ना रखते थे आनंद बख्शी       Lokswami      
39 वर्ष की हुयीं ग्रेसी सिंह       Lokswami      
प्रियंका की गिरफ्तारी प्रजातंत्र का दमन : कांग्रेस       Lokswami      
सिद्धू का इस्तीफा मंजूर ,अमरिंदर संभालेंगे बिजली विभाग का कामकाज       Lokswami      
टंडन को राज्यपाल बनाए जाने पर कमलनाथ ने दी शुभकामनाएं       Lokswami      
प्रियंका को रोकना भाजपा की फासिस्‍टवादी सोच: अजय       Lokswami      
आईसीजे के फैसले के बाद पाकिस्तान जाधव को राजनयिक मदद प्रदान कराने पर राजी       Lokswami