Header Ads

 
राजस्थान के कई मौजूदा विधायक जीत चुके हैं लोकसभा चुनाव
Friday, Apr 12 2019
 

जयपुर 12 अप्रैल राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे तथा कई मंत्रियों सहित डेढ दर्जन से अधिक मौजूदा विधायक लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री और जोधपुर के सरदारपुरा से कांग्रेस विधायक श्री गहलोत ने जोधपुर संसदीय क्षेत्र से 1980, 1984, 1991, 1996 एवं 1998 में लोकसभा चुनाव जीता । वह पांच बार सांसद रहे और केन्द्र सरकार में मंत्री बने। श्री गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत इस बार जोधपुर से कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में पहली बार चुनाव लड रहे है। इसी तरह दो बार प्रदेश की मुख्यमंत्री रही एवं झालावाड जिले में झालरापाटन से भाजपा विधायक श्रीमती राजे ने भी झालावाड से पांच बार लोकसभा चुनाव जीता और मंत्री बनी। उन्होंने झालावाड संसदीय क्षेत्र से 1989 से 1991 तक लगातार पांच बार सांसद रही। इसके बाद उनके पुत्र दुष्यंत सिंह लगातार तीन बार सांसद चुने गये और इस बार चौथी बार चुनाव लड रहे है, हालांकि वह कभी विधायक नहीं रहे। कांग्र्रेस के दिग्गज नेता रहे राजेश पायलट के पुत्र सचिन पायलट ने 2004 में दौसा संसदीय क्षेत्र से और 2009 में में अजमेर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव जीता। वह टोंक से गत विधानसभा चुनाव जीतकर पहली बार विधायक बने। कृषि मंत्री लाल चंद कटारिया 2009 में जयपुर ग्रामीण क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी के रुप चुनाव लडकर लोकसभा पहुंचे। वह जयपुर की झोंटवाडा विधानसभा क्षेत्र से विधायक है। विधानसभा अध्यक्ष डा सी पी जोशी ने भीलवाडा संसदीय क्षेत्र में 2009 में कांग्रेस उम्मीदवार के रुप में चुनाव जीता। वह राजसमंद जिले के नाथद्वारा से विधायक है। अजमेर जिले के केकडी से कांग्रेस विधायक एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा 2017 में अजमेर से उपचुनाव जीतकर लाेकसभा पहुंचे। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी 2009 में बाडमेर-जैसलमेर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव जीता। श्री चौधरी बायतू से कांग्रेस विधायक है। स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने वर्ष 1984 में कोटा से कांग्रेस उम्मीदवार के रुप में लोकसभा चुनाव जीता। वह वर्तमान में कोटा उत्तर से विधायक है। पयर्टन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने भरतपुर लोकसभा क्षेत्र से 1989 में जनता पार्टी, 1999 और 2004 में भाजपा प्रत्याशी के रुप में लोकसभा चुनाव जीता। वर्तमान में वह भरतपुर जिले की डीग-कुम्हेर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक है। सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने 1998 में चित्तौडगढ से कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में सांसद चुने गये। वह बांसवाडा जिले में बागीदौरा से विधायक है। हवामहल से कांग्रेस विधायक महेश जोशी ने जयपुर से 2009 में लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बने। विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने उदयपुर से 1989 में भाजपा उम्मीदवार के रुप में चुनाव जीता। वह उदयपुर से भाजपा विधायक है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं भीलवाडा जिले की शाहपुरा से भाजपा विधायक कैलाश मेघवाल ने 1989 में जालोर से भाजपा प्रत्याशी के रुप में चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे। इसी तरह पूर्व मंत्री एवं राजसमंद से भाजपा विधायक किरण माहेश्वरी ने उदयपुर से 2004 में भाजपा प्रत्याशी के रुप में लोकसभा चुनाव जीता। तारानगर से कांग्रेस विधायक नरेन्द्र बुडानिया ने 1985 में चुरु लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में चुनाव जीता। सीकर के खंडेला से विधायक महादेव सिंह खंडेला ने 2009 में सीकर से लोकसभा चुनाव जीता। टोंक जिले देवली-उनियारा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हरीश मीणा ने 2014 में दौसा से भाजपा प्रत्याशी के रुप में चुनाव जीता। गत विधानसभा चुनाव के समय वह भाजपा छोडकर कांग्रेस में शामिल हाे गये थे। राज्य की गहलोत सरकार के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने 2004 में जयपुर से लोकसभा चुनाव लडा लेकिन वह भाजपा के गिरधारी लाल भार्गव के सामने एक लाख से भी अधिक मतों से हार गये। अजमेर जिले के नसीराबाद से मौजूदा विधायक रामस्वरुप लाम्बा भी अजमेर से लोकसभा उपचुनाव हार चुके है। इस बार चार विधायक लाेकसभा चुनाव लड रहे हैं, जिनमें कोटा जिले में पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के रामनारायण मीणा कोटा से , चुरु जिले के सादुलपुर से विधायक कृष्णा पूनियां जयपुर ग्रामीण से , झुंझुनूं जिले के मंडावा में भाजपा विधायक नरेन्द्र खींचड झुंझुनूं से तथा नगौर जिले की खींवसर से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी विधायक हनुमान बेनीवाल नागौर से चुनाव लड रहे हैं। श्री बेनीवाल भाजपा के साथ गठबंधन होने से उसके समर्थन से चुनाव लड रहे है। राज्य के पूर्व पांच विधायक भी चुनाव लड रहे हैं जिनमें भाजपा प्रत्याशी भागीरथ चौधरी अजमेर, कैलाश चौधरी बाडमेर-जैसलमेर , दीया कुमारी राजसमंद , कनकमल कटारा बांसवाडा सुरक्षित तथा कांग्रेस के श्रवण कुमार झुंझुनूं से चुनाव मैदान में हैं। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस बेपटरी, 20 घायल       Lokswami      
राम नाईक पूर्णत: स्वस्थ अस्पताल से मिली छुट्टी       Lokswami      
दो चरण के मतदान के बाद दीदी की नींद उडी: मोदी       Lokswami      
कश्मीर राजमार्ग खुला, केवल फंसे वाहनों को गुजरने की अनुमति       Lokswami      
मोदी ने सरकारी कंपनियों का हक छिना, निजी क्षेत्र काे पहुंचाया लाभ : कांग्रेस       Lokswami      
साहित्यकारों ने मोदी को समर्थन देने की अपील की       Lokswami      
भाजपा को 2014 का प्रदर्शन दोहराने की चुनौती       Lokswami      
मंत्री वर्मा बोले- विजयवर्गीय कह रहे थे चुनाव लड़ूंगा, पता चला टिकट नहीं मिलेगा तो मना किया       Lokswami      
कांग्रेस का चेहरा संघवी, 21 साल से चुनाव नहीं जीते, पर समाज-व्यापारी वर्ग में पकड़ से फिर मिला मौका       Lokswami      
कैलाश विजयवर्गीय का इंदौर से चुनाव लड़ने से इंकार, कहा- बंगाल में रहना मेरा कर्तव्य       Lokswami      
मैक्रॉं ने नोट्रे-डेम कैथेड्रल के पुनर्निमाण का वादा किया       Lokswami      
150 करोड के क्लब में शामिल हुई केसरी       Lokswami      
वरुण और सारा को लेकर कुली नंबर वन का रीमेक बनायेंगे डेविड धवन!       Lokswami      
अश्वत्थामा का किरदार निभायेंगे विकी कौशल       Lokswami      
फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म से कोई दिक्कत नहीं : राधिका       Lokswami      
उत्तर बंगाल में भाजपा सांसद रूपा गांगुली की कार पर हमला       Lokswami      
माकपा ने की पश्चिम त्रिपुरा में पुनर्मतदान की मांग       Lokswami      
तेज हवाओं और बूंदाबांदी से बदला मौसम का मिजाज       Lokswami      
कनाडा में गोलीबारी, चार की मौत       Lokswami      
आबे ने विश्व अर्थव्यवस्था पर ब्रेक्सिट के प्रभाव को कम करने की अपील       Lokswami