Header Ads

 
फिल्म केदारनाथ के प्रदर्शन पर रोक लगाने से उच्च न्यायालय का इन्कार
Thursday, Dec 6 2018
 

नैनीताल 06 दिसंबर उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने विवादित फिल्म केदारनाथ के प्रदर्शन पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया है। उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन व न्यायाधीश रमेश चंद खुल्बे की युगलपीठ ने मामले की सुनवाई करते कानून का हवाला देते हुए इसे सरकार के पाले में डाल दिया है। सरकार चाहे तो अब इस पर वह कोई निर्णय ले सकती है। इसके साथ ही न्यायालय ने याचिका को पूरी तरह से निस्तारित कर दिया। सरकार ने उच्च न्यायालय को बताया कि सरकार ने इस मामले की समीक्षा के लिए एक उच्च कमेटी का गठन किया है जो इस मामले की समीक्षा के बाद सरकार को रिपोर्ट पेश करेगी। उच्च न्यायालय ने साफ कहा कि उसे फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने के मामले में कोई अधिकार नहीं है। इस मामले में अदालत में लगभग आधे घंटे बहस चली। इस बीच याचिकाकर्ता की ओर से न्यायालय को बताया गया कि यह हिन्दूओं की आस्था से जुड़ा हुआ मामला है और इससे कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है। इसके जवाब में उच्च न्यायालय ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति राज्य सरकार का मामला है। याचिकाकर्ता स्वामी दर्शन सिंह भारती और हरि कृष्ण किमोठी की ओर से पेश जनहित याचिका में कहा गया कि केदारनाथ हिन्दुओं की आस्था का केन्द्र है और भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंगों में से प्रमुख ज्योर्तिलिंग हैं। केदारनाथ को मोक्ष का धाम माना जाता है। फिल्म में केदारनाथ के इतिहास को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है। याचिका में यह भी कहा गया है कि फिल्म से देश ही नहीं दुनिया में केदारनाथ को लेकर गलत संदेश जाएगा। इससे देश के विभिन्न हिस्सों में दंगे भड़कने की आशंका है। इसलिये सात दिसंबर को प्रदर्शित होने वाली फिल्म पर वर्तमान स्वरूप में प्रदर्शित करने पर रोक लगायी जाए। उल्लेखनीय है कि इस मामले के गरमाने के बाद प्रदेश की त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन कर दिया था। इस कमेटी में गृह सचिव नितेश झा, सूचना सचिव दिलीप जावलकर व प्रदेश के डीजीपी अनिल रतूड़ी को बतौर सदस्य शामिल किया गया है। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
तुम हालातों की भट्टी में जब-जब भी मुझको झोंकोगे तब तपकर सोना बनूंगा मैं, तुम मुझको कब तक रोकोगे       Lokswami      
पुलवामा हमले के समय कहां थे मोदी: कांग्रेस       Lokswami      
कुवैत में 161 कैदियों को रिहा करने का आदेश       Lokswami      
सीरिया में 200 अमेरिकी शांति सैनिक रहेंगे मौजूद: व्हाइट हाउस       Lokswami      
मंडावा में अंतरराष्ट्रीय घुडदौड प्रतियोगिता दो मार्च से       Lokswami      
परिवहन मंत्री ने किया स्कूल बसों का निरीक्षण       Lokswami      
बस्तर की स्थिति बताने तीन सौ से ज्यादा सायकल यात्री यात्रा पर       Lokswami      
कमलनाथ की लोगों से स्वाइन फ्लू से बचाव की अपील       Lokswami      
दिल्ली में बादलों की लुका-छिपी, वायु गुणवत्ता सामान्य       Lokswami      
रूपहले पर्दे को अपनी दिलकश अदाओं से सजाया मधुबाला ने       Lokswami      
पंजाबी फिल्म में काम करेंगी जरीन खान       Lokswami      
दीपिका की पसंद के कपडे पहनते हैं रणवीर       Lokswami      
कंगना के साथ काम नहीं करना चाहते हैं अली अब्बास जफर!       Lokswami      
भारत-कोरिया के बीच कई महत्वूपर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर       Lokswami      
आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई का समय आ गया: मोदी       Lokswami      
सुरक्षा परिषद के बयान से पाकिस्तान पर दबाव बढा: भारत       Lokswami      
मादुरो ने ईयू से मानवीय सहायता लेने पर दी रजामंदी       Lokswami      
मोदी को सोल शांति पुरस्कार, पुरस्कार राशि नमामि गंगे को समर्पित       Lokswami      
कूरियर कंपनी के प्रबंधक से चार लाख 70 हजार की लूट       Lokswami      
इलेक्ट्रानिक्स दुकान से डेढ लाख रूपये की संपत्ति की चोरी       Lokswami