Header Ads

 
पाकिस्तान ने गुजरात तट से दूर जल सीमा के पास से तीन भारतीय नौकाएं और 15 मछुआरों को पकडा
Wednesday, Jan 9 2019
 

पोरबंदर, 09 जनवरी पाकिस्तान मरीन सुरक्षा एजेंसी ने आज गुजरात के कच्छ जिले के जखौ तट से दूर अरब सागर में अंतर्राष्ट्रीय जल सीमा आईएमबीएल के पास से कम से कम तीन भारतीय नौकाओं और इन पर सवार 15 मछुआरों को पकड लिया। भारतीय फिश वर्कर्स फोरम के सचिव मनीष लोढारी ने बताया कि ये तीनो नौकाएं पोरबंदर की है और समुद्र में मछली पकडने गयी थीं। ज्ञातव्य है कि आईएमबीएल के पास से पाकिस्तानी मरीन अक्सर भारतीय नौकाओं को पकड लेते हैं। समुद्र में मछली पकडने गयी ये नौकाएं भटक कर इसके करीब या पार चली जाती हैं। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
शूटिंग के दौरान तेलुगू अभिनेता नागेश्वर घायल       Lokswami      
जर्मनी में निष्क्रिय किया गया द्वितीय विश्व युद्ध का बम       Lokswami      
केरल का लापता पुलिस अधिकारी तमिलनाडु में मिला       Lokswami      
गटर में सफाई करने उतरे सात लोगों की मौत       Lokswami      
टिप टिप बरसा पानी पर रोमांस करेंगे अक्षय-कैटरीना!       Lokswami      
आमिर के साथ फिर काम करेंगी करीना!       Lokswami      
जौनपुर में आंध्र प्रदेश के युवक की हत्या       Lokswami      
शाहजहांपुर में चाचा ने की भतीजे की गोली मारकर हत्या       Lokswami      
योगी ने झारखण्ड नक्सली हमले में शहीद पुलिसकर्मियों को की श्रद्धांजलि अर्पित       Lokswami      
तूफान वायु के दोबारा लौटने की आशंका के बीच गुजरात के तटीय जिलों में बारिश का सिलसिला जारी       Lokswami      
पहली ही फिल्म के लिये राष्ट्रीय पुरस्कार जीता था मिथुन ने       Lokswami      
वेदलम के रीमेक में काम करेंगे जॉन अब्राहम       Lokswami      
राजकुमार राव के साथ जोडी जमायेंगी जाह्नवी कपूर       Lokswami      
गैंगस्टर ड्रामा फिल्म मुंबई सागा बनायेंगे संजय गुप्ता       Lokswami      
बैडमिंटन सीख रही हैं परिणीति चोपडा       Lokswami      
ओमान में भारतीय नौका और चालक दल के 10 सदस्यों को बचाया गया       Lokswami      
ईट-पत्थर से कूचकर ग्रामीण की हत्या       Lokswami      
गोविंद सिंह ने ईवीएम में हेराफेरी लगाया आरोप       Lokswami      
पटवारी दो हजार रुपए की रिश्वत लेते पकडाया       Lokswami      
सुरक्षा कारणों से दक्षिण कश्मीर में ट्रेन सेवा स्थगित       Lokswami