Header Ads

 
देश में 2022 तक होंगे 85.8 करोड स्मार्टफोन यूजर
Thursday, May 9 2019
 

नयी दिल्ली 09 मई टेलीकॉम कंपनियों के बीच जारी गलाकाट प्रतिस्पर्धा के कारण दुनिया में सबसे सस्ते डाटा के बल पर देश में स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की संख्या वर्ष 2022 तक बढकर 85.9 करोड पर पहुँचने की उम्मीद है जो वर्ष 2017 के 46.8 करोड उपभोक्ताओं की तुलना में लगभग दोगुना है। उद्योग संगठन एसोचैम और पीडब्ल्यूसी द्वारा गुरुवार को जारी एक संयुक्त अध्यन रिपोर्ट में यह अनुमान व्यक्त करते हुये कहा गया है कि स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की संख्या में औसत 12.9 प्रतिशत सालाना की वृद्धि दर्ज की जा रही है। इसमें कहा गया है कि वर्ष 2017 में देश में 46.8 करोड स्मार्टफोन यूजर थे। इस आँकडे के वर्ष 2022 तक बढकर 85.9 करोड पर पहुँचने का अनुमान है। इसी तरह से वर्ष 2017 में फीचर फोन यूजरों की संख्या 70.1 करोड थी जिसके वर्ष 2022 तक घटकर 50.4 करोड पर आने की संभावना है। इसमें वार्षिक 6.4 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की जा रही है। इसमें कहा गया है कि अब तक के सबसे कम डाटा टैरिफ होने और स्मार्टफोन की पहुँच बढने से देश में वीडियो ऑन डिमांड वीओडी बाजार को सबसे अधिक लाभ होगा। देश में इंटरनेट के उपभोग में तेज वद्धि होने का उल्लेख करते हुये इसमें कहा गया है कि वीओडी की देश में माँग बढने के प्रमुख कारकों में ऐसे डिवाइस शामिल हैं जो ऑनलाइन वीडियो कंटेंट देखने के योग्य हैं। इसमें कहा गया है कि वीओडी उद्योग के लिए टेबलेट भी एक प्रमुख डिवाइस है। हालाँकि, वर्ष 2017 में देश में टेबलेट की पहुँच मात्र 5.3 प्रतिशत थी जिसके वर्ष 2022 तक बढकर 10 प्रतिशत पर पहुँचने की उम्मीद है। इसमें मनोरंजन और मीडिया उद्योग के लिए टेलीविजन को प्रमुख कारक बताते हुये कहा गया है कि वर्ष 2017 में देश में 133.14 करोड टेलीविजन सेट थे जिसके वर्ष 2022 तक बढकर 220.03 करोड पर पहुँचने की संभावना है। इसमें वार्षिक 10.6 प्रतिशत की बढोतरी हो रही है। हालाँकि, वैश्विक स्तर पर यह वृद्धि दर 1.4 प्रतिशत ही है। टेलीविजन को कंटेंट उपभोग के लिए सबसे किफायती डिवाइस बताते हुये कहा गया है कि यह ग्रामीण क्षेत्रों में मनोरंजन का सबसे लोकप्रिय स्रोत है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय वीडियो ओटीटी बाजार वैश्विक बाजार की तुलना में अधिक तेजी से आगे बढ रहा है। वर्ष 2017-22 के दौरान इसके वार्षिक 22.6 प्रतिशत की दर से बढने का अनुमान जताते हुये कहा गया है कि वर्ष 2022 तक भारतीय वीडियो ओटीटी बाजार दुनिया के 10 प्रमुख बाजारों में शामिल हो जायेगा और यह 82.3 करोड डॉलर का बाजार होगा। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
रोहिंग्याओं की वापसी पर भारत-बंगलादेश सहमत       Lokswami      
सोनिया को अनुच्छेद 370 पर अपनी राय स्पष्ट करनी चाहिए :शिवराज       Lokswami      
अनन्या पांडे की एक्टिंग से खुश डायरेक्टर ने दिया 500 रुपये इनाम       Lokswami      
“मैं तो रस्ते से जा रहा था” को रिक्रियेट करेंगे वरूण-सारा       Lokswami      
दिग्गज संगीतकार खय्याम का निधन       Lokswami      
फुटबॉल कोच का किरदार निभायेंगे अजय देवगन       Lokswami      
ऑक्सफोर्ड में स्पीच देंगे ऋतिक रोशन       Lokswami      
पुनीत इस्सर के बेटे सिद्धांत को लॉन्च करेंगे सलमान       Lokswami      
सड़क 2 को खास फिल्म मानती है आलिया भट्ट       Lokswami      
अमेरिकी अर्थव्यवस्था में नहीं आएगी मंदी: कुडलो       Lokswami      
सीरियाई सेना ने इदलिब के प्रमुख शहर पर किया कब्जा       Lokswami      
हांगकांग में हिंसा का असर अमेरिका-चीन व्यापारिक समझौते पर: ट्रम्प       Lokswami      
युगांडा में तेल टैंकर में आग लगने से 20 की मौत, कई घायल       Lokswami      
पश्चिमी प्रशांत महासागर में भूकंप के झटके       Lokswami      
काबुल में आत्मघाती हमले की अमेरिका ने की निंदा       Lokswami      
एंटोनियो गुटेरस से मिलेंगे माइक पोम्पियो       Lokswami      
मध्यप्रदेश में खिलाड़ियों को दिया जाएगा ओपन फोरम : पटवारी       Lokswami      
पाकिस्तान भारत के साथ तनाव कम करे-ट्रंप       Lokswami      
पिछले 24 घंटों के दौरान सीरिया में आतंकवादियों ने 31 हमले किये       Lokswami      
कश्मीर मुद्दे का संरा घोषणा पत्र के अनुसार समाधान हो: चीन       Lokswami