Header Ads

 
जल्द मिलेंगे कटहल के बिस्कुट ,चाकलेट और जूस
Monday, Jun 10 2019
 

नयी दिल्ली | 10 जून बाजार में जल्द ही कटहल के बने बिस्कुट, चाकलेट और जूस मिलना शुरु हो जायेगा जो पूरी तरह से प्राकृतिक होगा। भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान बेंगलुरु ने देश में पहली बार कटहल से बिस्कुट, चाकलेट और जूस तैयार करने में सफलता हासिल की है जिसे जल्दी ही बाजार में उतार दिया जायेगा । संस्थान के निदेशक एम आर दिनेश ने बताया कि कटहल के पके फल से बिस्कुट , चाकलेट और जूस तैयार किये गये हैं । कटहल का जूस पूरी तरह से प्राकृतिक है जिसमें न तो चीनी का प्रयोग किया गया है और न ही जूस को अधिक दिनों तक सुरक्षित रखने के लिए किसी रसायन का उपयोग किया गया है । कटहल से तैयार बिस्कुट गजब का है । मानव स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखते हुए इसमें चालीस प्रतिशत मैदे के स्थान पर कटहल के बीज के आटे का उपयोग किया गया है । मैदा के प्रयोग से बिस्कुट में रेसे की मात्रा बहुत कम या नहीं के बराबर होती है जबकि कटहल बीज के आटे के मिश्रण से इसमें रेशे की मात्रा पर्याप्त हो जाती है । बिस्कुट में कटहल के गुदे से तैयार पाउडर , मशरुम , मैदा ,चीनी , मक्खन और दूध पाउडर मिलाया गया है । इसी तरह से चाकलेट में कटहल के फल का भरपूर उपयोग किया गया है । इसमें चाकलेट पाउडर का भी उपयोग हुआ है । डा. दिनेश ने बताया कि किसानों को प्रोत्साहित करने की योजना के तहत देश में कटहल की सिद्धू और शंकर किस्म का चयन किया गया है जिसमें लाइकोपीन भरपूर मात्रा में होता है । इन दोनों किस्मों का फल पकने पर ताम्बे जैसा लाल होता है तथा उसका वजन ढाई से तीन किलोग्राम तक होता है । उत्तर भारत में कटहल का फल पकने पर पीला या पीलापन लिए सफेद रंग का होता है । इसका फल पांच किलो से 20 किलोग्राम तक होता है । डा. दिनेश ने बताया कि सिद्धू और शंकर किस्म के कटहल को देश के अधिकांश हिस्सों में लगाया जा सकता है । इसका पौधा लगाने के चार साल बाद फल देने लगता है । इस में शुरुआत में कम फल लगते हैं लेकिन जैसे जैसे पेड बडा होते जाता है उसमें फलों की संख्या बढने लगती है । खास बात यह है कि सिद्धू का फल गुच्छों में लगता है जो किसान के लिए ज्यादा लाभदायक है । फलों और सब्जियों के संबंध में मशहूर है कि जो जितना रंगीन होगा वह उतना ही पौष्टिक भी होगा लिहाजा सिद्धू और शंकर का फल कटहल की अन्य किस्मों की तुलना में अधिक स्वास्थ्य वर्द्धक है । इसमें प्रति 100 ग्राम में 6.48 मिलीग्राम विटामिन सी होता है और लाइकोपीन 1.12 मिलीग्राम होता है । इसमें मिठास 31 ब्रिक्स है । कर्नाटक के तुमकुर जिले के किसान एस एस परमेशा ने सिद्धू किस्म को संरक्षित कर रखा है । श्री परमेशा ने बताया कि पहले वह अपने कटहल के व्यवसाय से सालाना सात - आठ हजार रुपये ही अर्जित कर पाते थे लेकिन आईआईएचआर के सम्पर्क में आने के बाद उनकी आय सालाना आठ लाख रुपये तक हो गयी है । वह इस संस्थान के सहयोग से कटहल के पौधे तैयार करते है और फिर उसे बेच देते हैं । उन्होंने बताया कि इस वर्ष 20 हजार पौधे की मांग आयी है । तुमकुर जिले के ही किसान शंकरैया के कटहल का किस्म शंकर है । शंकर के फल में प्रति सौ ग्राम में 5.83 मिलीग्राम कैरोटीन , 2.26 मिलीग्राम लाइकोपीन होता है । इसके अलावा इसमें उच्च आक्सीडेंट भी है जो शरीर के लिए विशेष लाभकारी है । इसमें मिठास 28.47 ब्रिक्स है । श्री दिनेश ने बताया कि कटहल को अधिक वर्षा वाले स्थानों पर लगाने से उसके रंग के खराब होने का खतरा है । कटहल की लकडी को बेहद मजबूत और उपयोगी माना जाता है और किसान शीशम नहीं मिलने पर कटहल की लकडी का उपयोग करते हैं । 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
दिल्ली में मौसम हुआ खुशनुमा, बारिश का अनुभान       Lokswami      
अनंतनाग मुठभेड:दो आतंकवादी ढेर, दो जवान घायल       Lokswami      
चिकित्सकों की हडताल से चरमराई चिकित्सा व्यवस्था       Lokswami      
क्रिकेट बुकी पर छापा, सटोरिया नशीली दवाइयों सहित गिरफ्तार       Lokswami      
कार के नहर में गिरने से ग्राम सेवक की मौत       Lokswami      
वर्षा से तापमान में गिरावट आने से भीषण गर्मी में आई कमी       Lokswami      
दक्षिण अफ्रीका में सडक दुर्घटना में 24 लोगों की मौत       Lokswami      
न्यूजीलैंड में भूकंप के तेज झटके       Lokswami      
त्रिपुरा में भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन पर खतरा       Lokswami      
संत कबीर ने मानवता को दिखाया सामाजिक समरसता और सदभाव का मार्ग-भूपेश       Lokswami      
हर मोर्चे पर विफल कमलनाथ सरकार : नरोत्तम       Lokswami      
बाल सुधार गृह से फरार किशोरों का सुराग नहीं,योगी ने मांगा स्पष्टीकरण       Lokswami      
मोदी, राजनाथ, शाह, तोमर, स्मृति ने लोकसभा की सदस्यता की शपथ ली       Lokswami      
लेफ्टिनेंट जनरल हमीद हाेंगे आईएसअाई के नये प्रमुख       Lokswami      
चंबा में कार खाई में गिरी, एक व्यक्ति की मौत दो गम्भीर रूप से घायल       Lokswami      
पंजाब के एक युवक की गिरी नदी में डूबने से मौत       Lokswami      
शिव मंदिर हुआ आग में तबाह       Lokswami      
मुखबिरी के संदेह में नक्सली कमांडर की हत्या       Lokswami      
सेवा भावना से काम करेंगे रविकिशन       Lokswami      
नवनीत राणा मुद्दों के आधार पर मोदी सरकार को देगी समर्थन       Lokswami