Header Ads

 
चेन्नई को रोकने के लिए पूरा जोर लगाएंगे राजस्थान रॉयल्स
Wednesday, Apr 10 2019
 

जयपुर, 10 अप्रैल राजस्थान रॉयल्स को आईपीएल-12 में चोटी पर चल रही गत चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स का विजय रथ रोकने के लिए गुरूवार को यहां होने वाले मुकाबले में अपना पूरा जोर लगाना होगा। चेन्नई की टीम छह मैचों में पांच मैच जीत चुकी है और 10 अंकों के साथ तालिका में चोटी पर है। राजस्थान ने पांच मैचों में से चार मैच गंवाए हैं और वह मात्र दो अंकों के साथ आठ टीमों की तालिका में सातवें स्थान पर है। राजस्थान ने अपने पहले तीन मैच किंग्स इलेवन पंजाब से 14 रन से, सनराइजर्स हैदराबाद से पांच विकेट से और चेन्नई से आठ रन से गंवाए थे। राजस्थान ने अपने चौथे मैच में जाकर फिसड्डी टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ एक गेंद शेष रहते सात विकेट से जीत हासिल की थी। लेकिन उसने फिर कोलकाता नाईट राइडर्स से अगला मैच 37 गेंद शेष रहते आठ विकेट से गंवा दिया। राजस्थान को यदि मुकाबले में बने रहना है तो उसे जीत की पटरी पर लौटना होगा। राजस्थान और चेन्नई के बीच 31 मार्च को चेन्नई में जो मुकाबला हुआ था उसे चेन्नई ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की नाबाद 75 रन की जबरदस्त पारी से जीता था। चेन्नई ने आठ विकेट पर 175 रन बनाये थे जबकि राजस्थान की टीम सराहनीय संघर्ष करने के बावजूद आठ विकेट पर 167 रन ही बना सकी। राजस्थान अपने पिछले मैच में कोलकाता के खिलाफ 139 रन ही बना पायी थी जिससे उसे हार का सामना करना पड़ा था। चेन्नई की ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह, लेग स्पिनर इमरान ताहिर और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा से सजी स्पिन ताकत के सामने राजस्थान के बल्लेबाजों खासतौर पर जोस बटलर, स्टीवन स्मिथ और बेन स्टोक्स के अलावा कप्तान अजिंक्या रहाणे को शानदार प्रदर्शन करना होगा तभी रॉयल्स धोनी का विजय रथ रोकने की कोशिश कर पाएंगे। चेन्नई ने अपने पिछले मुकाबले में कोलकाता को मात्र 108 रन पर रोककर सात विकेट से शानदार जीत हासिल की थी। गत चैंपियन टीम गेंदबाजी और बल्लेबाजी के लिहाज से जबरदस्त फॉर्म में है और उसे रोकना राजस्थान के लिए एक बड़ी चुनौती होगी। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
कानपुर के पास पूर्वा एक्सप्रेस बेपटरी, 20 घायल       Lokswami      
राम नाईक पूर्णत: स्वस्थ अस्पताल से मिली छुट्टी       Lokswami      
दो चरण के मतदान के बाद दीदी की नींद उडी: मोदी       Lokswami      
कश्मीर राजमार्ग खुला, केवल फंसे वाहनों को गुजरने की अनुमति       Lokswami      
मोदी ने सरकारी कंपनियों का हक छिना, निजी क्षेत्र काे पहुंचाया लाभ : कांग्रेस       Lokswami      
साहित्यकारों ने मोदी को समर्थन देने की अपील की       Lokswami      
भाजपा को 2014 का प्रदर्शन दोहराने की चुनौती       Lokswami      
मंत्री वर्मा बोले- विजयवर्गीय कह रहे थे चुनाव लड़ूंगा, पता चला टिकट नहीं मिलेगा तो मना किया       Lokswami      
कांग्रेस का चेहरा संघवी, 21 साल से चुनाव नहीं जीते, पर समाज-व्यापारी वर्ग में पकड़ से फिर मिला मौका       Lokswami      
कैलाश विजयवर्गीय का इंदौर से चुनाव लड़ने से इंकार, कहा- बंगाल में रहना मेरा कर्तव्य       Lokswami      
मैक्रॉं ने नोट्रे-डेम कैथेड्रल के पुनर्निमाण का वादा किया       Lokswami      
150 करोड के क्लब में शामिल हुई केसरी       Lokswami      
वरुण और सारा को लेकर कुली नंबर वन का रीमेक बनायेंगे डेविड धवन!       Lokswami      
अश्वत्थामा का किरदार निभायेंगे विकी कौशल       Lokswami      
फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म से कोई दिक्कत नहीं : राधिका       Lokswami      
उत्तर बंगाल में भाजपा सांसद रूपा गांगुली की कार पर हमला       Lokswami      
माकपा ने की पश्चिम त्रिपुरा में पुनर्मतदान की मांग       Lokswami      
तेज हवाओं और बूंदाबांदी से बदला मौसम का मिजाज       Lokswami      
कनाडा में गोलीबारी, चार की मौत       Lokswami      
आबे ने विश्व अर्थव्यवस्था पर ब्रेक्सिट के प्रभाव को कम करने की अपील       Lokswami