Header Ads

 
गायक बनने की तमन्ना रखते थे आनंद बख्शी
Saturday, Jul 20 2019
 

मुंबई 20 जुलाई अपने सदाबहार गीतों से श्रोताओं को दीवाना बनाने वाले बालीवुड के मशहूर गीतकार आनंद बख्शी ने लगभग चार दशक तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया लेकिन कम लोगो को पता होगा कि वह गीतकार नहीं बल्कि पार्श्वगायक बनना चाहते थे। पाकिस्तान के रावलपिंडी शहर में 21 जुलाई 1930 को जन्मे आनंद बख्शी को उनके रिश्तेदार प्यार से नंद या नंदू कहकर पुकारते थे। ‘बख्शी’ उनके परिवार का उपनाम था जबकि उनके परिजनों ने उनका नाम आनंद प्रकाश रखा था। लेकिन फिल्मी दुनिया में आने के बाद आनंद बख्शी से नाम से उनकी पहचान बनी। आनंद बख्शी बचपन से ही फिल्मों में काम करके शोहरत की बुंलदियों तक पहुंचने का सपना देखा करते थे लेकिन लोगो के मजाक उडाने के डर से उन्होंने अपनी यह मंशा कभी जाहिर नहीं की थी। वह फिल्मी दुनिया में गायक के रूप में अपनी पहचान बनाना चाहते थे। आनन्द बख्शी अपने सपने को पूरा करने के लिये 14 वर्ष की उम्र मे ही घर से भागकर फिल्म नगरी मुंबई आ गए जहां उन्होंने रॉयल इडियन नेवी मे कैडेट के तौर पर दो वर्ष तक काम किया। किसी विवाद के कारण उन्हें वह नौकरी छोडनी पडी। इसके बाद 1947 से 1956 तक उन्होंने भारतीय सेना में भी नौकरी की। बचपन से ही मजबूत इरादे वाले आनंद बख्शी अपने सपनों को साकार करने के लिये नये जोश के साथ फिर मुंबई पहुंचे जहां उनकी मुलाकात उस जमाने के मशहूर अभिनेता भगवान दादा से हुयी। शायद नियति को यही मंजूर था कि आनंद बख्शी गीतकार ही बने। भगवान दादा ने उन्हें अपनी फिल्म ‘भला आदमी’ में गीतकार के रूप में काम करने का मौका दिया। इस फिल्म के जरिये वह पहचान बनाने में भले ही सफल नहीं हो पाये लेकिन एक गीतकार के रूप में उनके सिने कैरियर का सफर शुरू हो गया। अपने वजूद को तलाशते आनंद बख्शी को लगभग सात वर्ष तक फिल्म इंडस्ट्री में संघर्ष करना पडा। वर्ष 1965 में ‘जब जब फूल खिले’ प्रदर्शित हुयी तो उन्हे उनके गाने ..परदेसियों से न अंखियां मिलाना.. ..ये समां.. समां है ये प्यार का.. एक था गुल और एक थी बुलबुल..सुपरहिट रहे और गीतकार के रूप में उनकी पहचान बन गई। इसी वर्ष फिल्म ‘हिमालय’ की गोद में’ उनके गीत ..चांद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोंचा था.. को भी लोगो ने काफी पसंद किया। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
रजत शर्मा का इस्तीफा मंजूर, डीडीसीए को कहा अलविदा       Lokswami      
वार्नर-लाबुशाने के शतकों ने निकाला पाकिस्तान का दम       Lokswami      
2028 ओलंपिक खेलों में ‘टॉप टेन’ में आने पर फोकस: रिजिजू       Lokswami      
चोटिल हसन श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ बाहर       Lokswami      
गांगुली की अगुवाई में रविवार को बीसीसीआई की पहली एजीएम       Lokswami      
दीपिका पादुकोण ने कार्तिक आर्यन से की रिक्वेस्ट       Lokswami      
अजय देवगन को लेकर ‘गोलमाल 5’ बनायेंगे रोहित शेट्टी!       Lokswami      
भंसाली की फिल्म में काम करेंगी तापसी पन्नू!       Lokswami      
वेबसीरीज में काम करेंगी तमन्ना भाटिया       Lokswami      
श्रोताओं के दिलों पर आज भी राज कर रहे हैं उदित नारायण       Lokswami      
‘दुर्गावती’ में भूमि पेडनेकर के साथ काम करेंगे अक्षय कुमार       Lokswami      
शाहरुख के साथ ‘अंगूर’ का रीमेक बनाना चाहते थे रोहित शेट्टी       Lokswami      
तुषार कपूर ने वर्ष 2013 में खरीदे थे ‘कंचना’ के राइट्स       Lokswami      
उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद का संभाला कार्यभार       Lokswami      
मेहनत के बूते हासिल किया जा सकता है मनचाहा मुकाम : रेहाना       Lokswami      
सलमान संग फिल्म करने के प्रस्ताव को ठुकरा चुकी हैं इलियाना       Lokswami      
सैफ से शादी करने के लिये करीना ने दो बार किया था इनकार       Lokswami      
तमिलनाडु में अगले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश के आसार       Lokswami      
उद्धव आज लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ       Lokswami      
लड़कियों द्वारा आदर्श माने जाने पर गर्व महसूस करती हैं कृति सेनन       Lokswami