Header Ads

 
केन्द्रीय बजट से संबंधित कार्य योजना 15 दिन में केन्द्र को करें प्रेषित:योगी
Thursday, Jul 11 2019
 

लखनऊ, 11 जुलाई उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के केन्द्रीय बजट में अपने विभागों से सम्बन्धित योजना के सम्बन्ध में 15 दिन के भतीर कार्य योजना बनाकर केन्द्र सरकार को प्रेषित कर दी जाए। श्री योगी ने बुधवार शाम यहां विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, प्रभारी सचिव तथा जिले की समीक्षा के लिए नामित नोडल अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने नोडल अधिकारियों द्वारा माह जून, जुलाई में आवंटित जिलों के निरीक्षण, वित्तीय वर्ष 2019-20 में प्रदेश में जारी की गई वित्तीय स्वीकृतियों, आईजीआरएस पोर्टल एवं सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त प्रकरणों के निस्तारण की स्थिति तथा वित्तीय वर्ष 2019-20 के केन्द्रीय बजट की नई योजनाओं के सम्बन्ध में समीक्षा की। उन्होंने समीक्षा के लिए नामित नोडल अधिकारियों को प्रभावी समीक्षा करने के निर्देश दिए । नोडल अधिकारी द्वारा जिले की समग्रता के साथ समीक्षा करें। समीक्षा के दौरान स्थलीय निरीक्षण और भौतिक सत्यापन के साथ कुछ कार्यालयों यथा तहसील, विकासखण्ड, थाना आदि का निरीक्षण भी किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों की समीक्षा भी करनी चाहिए। आदतन कार्य न करने की प्रवृत्ति वाले कर्मियों की स्क्रीनिंग, सुधार कर सकने वालों को अवसर तथा अच्छा कार्य करने वाले कर्मियों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले के निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी को स्थानीय जनता से संवाद स्थापित कर विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं, जन शिकायतों के निस्तारण के सम्बन्ध में फीडबैक लेना चाहिए। नोडल अधिकारी, आईजीआरएस और सीएम हेल्पलाइन से मिलने वाली जिलों से सम्बन्धित शिकायतों के बारे में संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा करें। नोडल अधिकारियों द्वारा प्रदेश की अर्थव्यवस्था में जिले के योगदान की सम्भावना के दृष्टिगत पहल कर उसे मूर्त रूप देने का प्रयास किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी के लिए जिला निरीक्षण का समय अपने विभाग के कार्यों को जमीनी धरातल पर देखने, जांचने का भी अच्छा अवसर है। उन्होंने लखीमपुर खीरी जिले का निरीक्षण करने वाले अधिकारी डाॅ0 रजनीश दुबे की कार्यप्रणाली की सराहना करते हुए उनके निरीक्षण की एक प्रति सभी नोडल अधिकारियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। आईजीआरएस और सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा करते हुए श्री योगी ने कहा कि शिकायतकर्ता की संतुष्टि ही शिकायत के निस्तारण का आधार होना चाहिए। हर शिकायतकर्ता को न्याय मिलना चाहिए। जनता की समस्याओं का सम्यक समाधान होने से लोकतंत्र की परिकल्पना साकार होती है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में बड़ी संख्या में शिकायतें लम्बित हैं अथवा उनका मेरिट के आधार पर निस्तारण नहीं हुआ है।

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
धनखड पश्चिम बंगाल के और फागु चौहान बिहार के नये राज्यपाल       Lokswami      
टैंकर के चालक दल के 23 सदस्यों में भारतीय भी       Lokswami      
रूस का नाटो से सैन्य वार्ता फिर शुरू करने पर जोर       Lokswami      
संरा ने जापान में आगजनी हमले में लोगों की मौत पर दुख प्रकट किया       Lokswami      
रूस सुनिश्चित करे कि ईरान इसके नागरिकों के अधिकारों का सम्मान करे: कोसाचेव       Lokswami      
डेयरी उद्योग को लेकर दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति को एनजीटी की फटकार       Lokswami      
खुद को मिसफिट एक्टर समझता था :अनिल कपूर       Lokswami      
आलिया भट्ट को अपनी प्रेरणा मानती हैं अनन्या पांडे       Lokswami      
अल्जीरिया 29 साल बाद फिर बना अफ्रीका चैंपियन       Lokswami      
धोनी ने खुद को विंडीज दौरे से किया अलग       Lokswami      
पटेल की शानदार पारी के बावजूद हारा भारत ए       Lokswami      
दिव्या दत्ता को गौर गोपाल दास ने उबारा डिप्रेशन से       Lokswami      
मिशन मंगल की स्क्रिप्ट काफी बेहतरीन :विद्या बालन       Lokswami      
गायक बनने की तमन्ना रखते थे आनंद बख्शी       Lokswami      
39 वर्ष की हुयीं ग्रेसी सिंह       Lokswami      
प्रियंका की गिरफ्तारी प्रजातंत्र का दमन : कांग्रेस       Lokswami      
सिद्धू का इस्तीफा मंजूर ,अमरिंदर संभालेंगे बिजली विभाग का कामकाज       Lokswami      
टंडन को राज्यपाल बनाए जाने पर कमलनाथ ने दी शुभकामनाएं       Lokswami      
प्रियंका को रोकना भाजपा की फासिस्‍टवादी सोच: अजय       Lokswami      
आईसीजे के फैसले के बाद पाकिस्तान जाधव को राजनयिक मदद प्रदान कराने पर राजी       Lokswami