Header Ads

 
मध्यप्रदेश कांग्रेस में आपस में टकराव, टिकट कटवाने के लिए जोर आजमाइश
15/03/2019 23:35:30
 

भोपाल, 16 मार्च 

कांग्रेस में प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। टिकट के लिए कांग्रेस नेताओं में आपसी टकराव दिखाई देने लगा है। करीब आधा दर्जन सीटों पर ऐसे दावेदार सामने आए हैं, जिनमें जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा नजर आ रही है। कुछ दावेदारों के खिलाफ ऐसे भी नेता लगे हैं, जिन्हें वे टिकट नहीं दिलाने के लिए जुटे हैं और कुछ नेता एक- दूसरे का टिकट कटवाने की कोशिशें कर रहे हैं।
होशंगाबाद सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, पूर्व सांसद रामेश्वर नीखरा और पूर्व विधायक सविता दीवान की प्रमुख दावेदारी है। तीनों नेता हार देख चुके हैं, जिनमें से पचौरी हाल ही का विधानसभा चुनाव हार चुके हैं। नीखरा लोकसभा और दीवान पूर्व में विधानसभा में पराजित हो चुकी हैं। पचौरी और नीखरा टिकट पाने के लिए क्षेत्र और संगठन में तेजी से सक्रिय हैं।

मामा-भानजे की सक्रियता

वहीं सतना लोकसभा सीट पर मामाभानजे राजेंद्र सिंह-अजय सिंह टिकट पाने के लिए एक-दूसरे को कमजोर बताने में जुटे हैं। दोनों नेता क्षेत्र में सक्रिय हैं, लेकिन राजेंद्र सिंह बाहरी प्रत्याशी बताकर अजय सिंह का दबे स्वरों में विरोध कर रहे हैं। हकीकत यह है कि अजय सिंह 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद मात्र 8000 वोटों के मामूली अंतर से हार को आधार बनाकर यहां से दावा ठोक रहे हैं। अजय सिंह लोकसभा चुनाव लड़ने का मौका गंवाना नहीं चाहते, इसलिए वे दिल्ली की दौड़ भी लगा रहे हैं।

विधानसभा का बदला लोस चुनाव में लेने की तैयारी

निमाड़ की खंडवा लोकसभा सीट पर अरुण यादव की संभावित उम्मीदवारी को देखते हुए कई स्थानीय नेता उनका टिकट कटवाने की कोशिश कर रहे हैं। कहा जाता है कि यादव ने विधानसभा चुनाव 2018 में जिन क्षेत्रीय नेताओं के टिकट कटवाने की कोशिशें की थीं, वे अभी से क्षेत्र में सक्रिय हो गए हैं। लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाए जाने की स्थिति में उन्हें न केवल भाजपा, बल्कि अपने दलों के कुछ नेताओं से भी अप्रत्यक्ष रूप से जूझना पड़ेगा।

अभी टिकट कटवाना प्राथमिकता

विंध्य की शहडोल सीट पर उपचुनाव हारी हिमाद्री सिंह का नाम सामने आते ही क्षेत्रीय नेता सक्रिय हो गए हैं। विधायक फुंदेलाल मार्को ने तो रायशुमारी के दौरान हिमाद्री का विरोध किया था। हिमाद्री सिंह के पति भाजपा में हैं, विधानसभा चुनाव में उनके आरोप लगे। अब उन्हें लोकसभा में प्रत्याशी बनाए जाने से रोकने के लिए क्षेत्रीय कांग्रेस नेता एकजुट दिखाई दे रहे हैं, जबकि लोकसभा उपचुनाव में उन्हें जिताने के लिए सभी ने काम किया था।

प्रशासनिक फेरबदल से टिकट के संकट की आहट

कमोबेश यही स्थिति ग्वालियर सीट की नजर आ रही है, जहां लगातार दो बार से लोकसभा चुनाव हार रहे अशोक सिंह फिर से प्रयास कर रहे हैं। अशोक सिंह ग्वालियर में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुट के नहीं माने जाते हैं और हाल ही में वहां हुए प्रशासनिक फेरबदल में भी दोनों के बीच की दूरियां सामने आईं। इस बार ग्वालियर के टिकट वितरण में सिंधिया की भूमिका अहम रहेगी, जिससे अशोक सिंह का टिकट संकट में बताया जा रहा है।


 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
बंगाल में पुल गरने से दो मरे , चार घायल       Lokswami      
जी20 शिखर सम्मेलन से इतर आरआईसी की बैठक में भाग लेंगे जिनपिंग       Lokswami      
कंबोडिया इमारत हादसे में मृतकों की संख्या 24 हुई       Lokswami      
दिमागी बुखार मौत मामले को लेकर बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस       Lokswami      
बंगलादेश में ट्रेन हादसे में चार मरे ,100 घायल       Lokswami      
मॉरिटानिया के पूर्व रक्षा मंत्री राष्ट्रपति चुनाव में विजयी       Lokswami      
कबीर सिंह ने वीकेंड पर 70 करोड की कमाई की       Lokswami      
अच्छी स्क्रिप्ट वाली फिल्मों में काम करती हैं रानी मुखर्जी       Lokswami      
मोगैम्बो का किरदार पहले मुझे ऑफर हुआ था: अनुपम खेर       Lokswami      
करण जौहर की फिल्म में फिर नजर आ सकती हैं अनन्‍या पांडेय       Lokswami      
हॉलीवुड में काम करेंगी श्रुति हासन       Lokswami      
अभिनेत्रियों को अलग पहचान दिलायी करिश्मा ने       Lokswami      
अभिनेत्री रेखा की मौजूदगी के बावजूद करिश्मा कपूर अपने सशक्त अभिनय से दर्शको की वाहवाही लूटने में सफल रही।       Lokswami      
‘नहीं हुआ मदन मोहन जैसा संगीतकार ’       Lokswami      
रिजर्व बैंक के डिप्‍टी गवर्नर आचार्य ने दिया इस्‍तीफा       Lokswami      
आज बंगलादेश के सामने अफगान चुनौती       Lokswami      
इंडोनेशिया में भूकंप के जोरदार झटके       Lokswami      
योगी ने मुरादाबाद में हुई सड़क दुर्घटना तीन लोगों की मृत्यु पर व्यक्त किया शोक       Lokswami      
मायावती ने सपा की तरह ही छत्तीसगढ में भी तोडा था जनता कांग्रेस से नाता       Lokswami      
नीमच जेल से कैदियों के भागने के मामले में एक हिरासत में       Lokswami