Header Ads

 
आरआईएसएटी-2बी का सफल प्रक्षेपण, सुरक्षा बलों- आपदा एजेंसियों को मिलेगी मदद
Wednesday, May 22 2019
 

चेन्नई, 22 मई भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने बुधवार को रडार इमेजिंग उपग्रह आरआईएसएटी-2बी का सफल प्रक्षेपण कर नया इतिहास रच दिया। पृथ्वी की निगरानी करने वाले इस उपग्रह का प्रक्षेपण पीएसएलवी-सी46 के जरिये यहां से करीब 80 किलोमीटर दूर श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से तडके 05:30 बजे प्रक्षेपण किया गया। प्रक्षेपण के 15 मिनट 25 सेकंड के बाद 615 किलोग्राम वजनी आरआईएसएटी-2बी को भूमध्यरेखा से 37 डिग्री के झुकाव के साथ 556 किलोमीटर की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया गया। प्रक्षेपण की 25 घंटों की उलटी गिनती श्रीहरिकोटा में मंगलवार तडके 04:30 बजे शुरू हो गयी थी। आरअाईएसएटी-2बी के सफल प्रक्षेपण के बाद इसरो के अध्यक्ष डॉ. के. शिवन ने कहा, “मुझे यह घोषणा करते हुए बेहद खुशी हो रही है कि पीएसएलवी-सी46 ने आरआईएसएटी-2बी को सफलतापूर्वक निर्धारित कक्षा में स्थापित कर दिया। आरआईएसएटी-2बी को भूमध्यरेखा से 37 डिग्री के झुकाव के साथ 556 किलोमीटर की कक्षा में स्थापित कर दिया गया है।” उन्होंने कहा, “यह मिशन इस मायने में महत्वपूर्ण है कि पीएसएलवी ने अंतरिक्ष में 50 टन का वजन प्रक्षेपित करने का रिकॉर्ड पार किया है। इसने अब तक 350 उपग्रहों का प्रक्षेपण किया है जिनमें से 47 राष्ट्रीय उपग्रह हैं और शेष छात्रों के एवं विदेशी उपग्रह हैं।” आरआईएसएटी-2बी इसरो के आरआईएसएटी कार्यक्रम का चौथा चरण है और इसका इस्तेमाल रणनीतिक निगरानी और आपदा प्रबंधन के लिए किया जाएगा। यह उपग्रह एक सक्रिय एसएआर सिंथेटिक अर्पचर रडार इमेजर से लैस है जो पृथ्वी की निगरानी की क्षमता बढाता है। उपग्रह का ‘रेगुलर’ रिमोट-सेंसिंग या ऑप्टिकल इमेजिंग उपग्रह बादल छाये रहने या अंधेरे में पृथ्वी पर छिपे वस्तुओं का पता नहीं लगा पाता है जबकि एक सक्रिय सेंसर ‘एसएआर’ से लैस यह उपग्रह दिन हो या रात, बारिश या बादल छाये रहने के दौरान भी अंतरिक्ष से एक विशेष तरीके से पृथ्वी की निगरानी कर सकता है। सभी मौसम में काम करने की यह विशेषता इसे सुरक्षा बलों और आपदा राहत एजेंसियों के लिये मददगार बनाती है। यह उपग्रह कृषि, वानिकी और आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में बडी उपलब्धि है। अंतरिक्ष से पृथ्वी की निगरानी क्षमता को और विकसित करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी निकट भविष्य में कम से कम छह और ऐसे उपग्रहों का प्रक्षेपण करने की योजना बना रही है। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
दिल्ली में मौसम हुआ खुशनुमा, बारिश का अनुभान       Lokswami      
अनंतनाग मुठभेड:दो आतंकवादी ढेर, दो जवान घायल       Lokswami      
चिकित्सकों की हडताल से चरमराई चिकित्सा व्यवस्था       Lokswami      
क्रिकेट बुकी पर छापा, सटोरिया नशीली दवाइयों सहित गिरफ्तार       Lokswami      
कार के नहर में गिरने से ग्राम सेवक की मौत       Lokswami      
वर्षा से तापमान में गिरावट आने से भीषण गर्मी में आई कमी       Lokswami      
दक्षिण अफ्रीका में सडक दुर्घटना में 24 लोगों की मौत       Lokswami      
न्यूजीलैंड में भूकंप के तेज झटके       Lokswami      
त्रिपुरा में भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन पर खतरा       Lokswami      
संत कबीर ने मानवता को दिखाया सामाजिक समरसता और सदभाव का मार्ग-भूपेश       Lokswami      
हर मोर्चे पर विफल कमलनाथ सरकार : नरोत्तम       Lokswami      
बाल सुधार गृह से फरार किशोरों का सुराग नहीं,योगी ने मांगा स्पष्टीकरण       Lokswami      
मोदी, राजनाथ, शाह, तोमर, स्मृति ने लोकसभा की सदस्यता की शपथ ली       Lokswami      
लेफ्टिनेंट जनरल हमीद हाेंगे आईएसअाई के नये प्रमुख       Lokswami      
चंबा में कार खाई में गिरी, एक व्यक्ति की मौत दो गम्भीर रूप से घायल       Lokswami      
पंजाब के एक युवक की गिरी नदी में डूबने से मौत       Lokswami      
शिव मंदिर हुआ आग में तबाह       Lokswami      
मुखबिरी के संदेह में नक्सली कमांडर की हत्या       Lokswami      
सेवा भावना से काम करेंगे रविकिशन       Lokswami      
नवनीत राणा मुद्दों के आधार पर मोदी सरकार को देगी समर्थन       Lokswami