Header Ads

 
असांजे का अमेरिका को प्रत्यर्पित किया जाना मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन : विशेषज्ञ
Friday, Apr 12 2019
 

संयुक्त राष्ट्र,12 अप्रैल संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि लंदन में गिरफ्तार किए गए विकीलीक्स के सह संस्थापक जूलियन असांजे को अगर अमेरिका को प्रत्यर्पित किया जाता है तो यह उनके मानवाधिकारों का घोर उल्लंघन होगा। इक्वाडोर सरकार ने असांजे को लंदन स्थित अपने दूतावास में और राजनयिक शरण देने से मना कर दिया था और इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था। न्यायिक प्रकिया का पालन किए बगैर सजा दिए जाने के मामलों को देखने वाली संयुक्त राष्ट्र की विशेष प्रतिनिधि एगनेस कालामार्ड ने ट्वीट करके कहा कि असांजे को दूतावास से बाहर निकाला जाना और गिरफ्तार किया जाने से उनके प्रत्यर्पण की दिशा में एक कदम पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि अब ब्रिटेन ने निरंकुश तरीके से उन्हें अपनी गिरफ्त में ले रखा है। प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार ब्रिटेन अब इस बात का आकलन करेगा कि आस्ट्रेलियाई नागरिक असांजे को अमेरिका को प्रत्यर्पित किया जाए या नहीं क्योंकि वहां उन्हें पांच वर्ष कैद की सजा हो सकती है। बताया जा रहा है कि ब्रिटेन ने लिखित में इक्वाडोर सरकार को यह आश्वासन दिया है कि असांजे को किसी ऐसे देश को नहीं सौंपा जाएगा जहां उन्हें टार्चर किया जाने अथवा मौत की सजा दिए जाने की आशंका है। कल जब असांजे को सेंट्रल लंदन की अदालत में पेश हुए तो उन्हें अदालत में 2012 में आत्मसमर्पण नहीं करने का दोषी पाया गया और अब उन्हें एक वर्ष कैद की सजा सुनाई गई है। निजता के अधिकार पर एक अन्य प्रतिनिधि जोई कान्नाटाकी ने जारी एक बयान में कहा “ भले ही असांजे को गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन इसके बावजूद मैं अपने उन प्रयासों का आकलन करना नहीं छोडूंगा जिनमें उनकी निजता का उल्लंघन होने का दावा किया गया है। उन्हें जहां भी रखा जाएगा मैं वहीं जाकर उनसे बातचीत करूंगा तथा देखने जाउंगा।” विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि चूंकि लंदन ने मानवाधिकार संधि का अनुमोदन कर रखा है ऐसे में इस कानून के अनुरूप उन्हें अपनी कहीं भी निर्बाध आने जाने की स्वतंत्रता के अधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए। 

 
 
   
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
सुर्खियां
बंगाल में पुल गरने से दो मरे , चार घायल       Lokswami      
जी20 शिखर सम्मेलन से इतर आरआईसी की बैठक में भाग लेंगे जिनपिंग       Lokswami      
कंबोडिया इमारत हादसे में मृतकों की संख्या 24 हुई       Lokswami      
दिमागी बुखार मौत मामले को लेकर बिहार सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस       Lokswami      
बंगलादेश में ट्रेन हादसे में चार मरे ,100 घायल       Lokswami      
मॉरिटानिया के पूर्व रक्षा मंत्री राष्ट्रपति चुनाव में विजयी       Lokswami      
कबीर सिंह ने वीकेंड पर 70 करोड की कमाई की       Lokswami      
अच्छी स्क्रिप्ट वाली फिल्मों में काम करती हैं रानी मुखर्जी       Lokswami      
मोगैम्बो का किरदार पहले मुझे ऑफर हुआ था: अनुपम खेर       Lokswami      
करण जौहर की फिल्म में फिर नजर आ सकती हैं अनन्‍या पांडेय       Lokswami      
हॉलीवुड में काम करेंगी श्रुति हासन       Lokswami      
अभिनेत्रियों को अलग पहचान दिलायी करिश्मा ने       Lokswami      
अभिनेत्री रेखा की मौजूदगी के बावजूद करिश्मा कपूर अपने सशक्त अभिनय से दर्शको की वाहवाही लूटने में सफल रही।       Lokswami      
‘नहीं हुआ मदन मोहन जैसा संगीतकार ’       Lokswami      
रिजर्व बैंक के डिप्‍टी गवर्नर आचार्य ने दिया इस्‍तीफा       Lokswami      
आज बंगलादेश के सामने अफगान चुनौती       Lokswami      
इंडोनेशिया में भूकंप के जोरदार झटके       Lokswami      
योगी ने मुरादाबाद में हुई सड़क दुर्घटना तीन लोगों की मृत्यु पर व्यक्त किया शोक       Lokswami      
मायावती ने सपा की तरह ही छत्तीसगढ में भी तोडा था जनता कांग्रेस से नाता       Lokswami      
नीमच जेल से कैदियों के भागने के मामले में एक हिरासत में       Lokswami